Sharab Chudane ke gharelu upay | शराब छुड़ाने के घरेलू उपाय

Sharab Chudane ke gharelu upay क्या हैं , यह सवाल लोग अक्सर पूछते हैं। शराब छोड़ना एक कठिन निर्णय हो सकता है, खासकर तब जब आपको हर दिन शराब पीने की आदत हो।

शराब पीने से न केवल आपकी सेहत ख़राब होती है बल्कि इसका पारिवारिक जीवन और रिश्तों पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। इससे वाद-विवाद और झगड़े हो सकते हैं, और जो लोग बहुत ज्यादा शराब पीते हैं वे अक्सर अपनी नौकरी खो देते हैं। इससे परिवार के लिए चीजें और भी कठिन हो जाती हैं।

दोस्तों, हम जानते हैं आप लोग अपनी शराब की लत को छोड़ना चाहते हैं और बड़ी उम्मीद लेकर इस article को पढ़ने आये हैं। हम आपको बिलकुल निराश नहीं करेंगे और सबसे सटीक sharab churane ka upay बताएँगे। बस आपको इस article को पूरा पढ़ना होगा ताकि आप सब कुछ बेहतर तरीके से समझ सकें।

शराब वापसी के लक्षण (Alcohol withdrawal symptoms)

शराब छोड़ने में सबसे बड़ा चैलेंज शराब वापसी (Alcohol withdrawal) को manage करना होता है।

जब लोग अचानक शराब पीना बंद कर देते हैं तो उनमें शराब वापसी के लक्षण दिखने लगते हैं।

कम शराब पीने वाले लोगों में यह लक्षण कम दिखाई देते हैं और कुछ दिनों में अपने आप ठीक हो जाते हैं। जबकि जो लोग काफी समय से पी रहे हैं और ज्यादा पीते हैं उनके लिए ये लक्षण काफी Unpleasant और painful होते हैं।

ऐसा भी देखा गया है की कई लोग इन लक्षणों को सहन नहीं कर पाते और फिर से पीना शुरू कर देते हैं।

वापसी के लक्षण आमतौर पर शराब पीने के 6 घंटे बाद दिखाई देते हैं। Physical Symptoms 5 दिन से एक हफ्ते में खत्म हो जाते हैं जबकि Psychological  Symptoms को ठीक होने में 2 से 3 हफ्ते लग जाते हैं।

शराब वापसी के लक्षणों की गंभीरता अलग-अलग होती है। कभी-कभी ये इतने गंभीर होते हैं कि अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता पड़ जाती है। हलाकि, हल्के लक्षणों को घर पर रह के manage किया जा सकता है।

हलके Physical Withdrawal Symptoms कुछ इस प्रकार हैं:

  • सर दर्द होना (Headache)
  • कंपकंपी होना (Tremors or shakes)
  • उलटी या मितली (Nausea or vomiting)
  • ज्यादा पसीना आना (Excessive Sweating)
  • भूख न लगना (Loss of appetite)
  • तेज हृदय गति (Rapid Heartbeat)

जबकि, गंभीर Physical Withdrawal Symptoms इस प्रकार हैं:

  • मतिभ्रम (Hallucinations)
  • प्रलाप (Delirium tremens)
  • बरामदगी (Seizures)

वहीं बात करें Psychological Withdrawal Symptoms की तो इसके लक्षणों में नींद न आना, मिजाज, चिंता, अनिंद्रा और चिड़चिड़ापन शामिल हैं।

और पढ़ें: Medha Vati Patanjali Benefits in Hindi । मेधा वटी के फायदे

Sharab Chudane ke gharelu upay (6 प्रभावी नुस्खे)

दोस्तों, इससे पहले की हम Sharab Chudane ke gharelu upay के बारे में बात करें, आपको कुछ बातें जाननी चाहिए जो आपको शराब छुड़ाने में मदद करेंगी।

शराब की लत को छुड़ाने के लिए सबसे पहले आपको अपनी इक्छा शक्ति को मजबूत करना होगा।

जब भी आपको शराब पिने का मन करे तो आप सबसे पहले अपने आप पर काबू रखना सीखें। हम जानते हैं की यह थोड़ा मुश्किल होता है लेकिन नामुमकिन बिलकुल भी नहीं है।

दोस्तों, आपको पहले ये समझना होगा की आप शराब क्यों पीना चाहते हैं? क्या आप खुश हैं और इसीलिए पीना चाहते हैं ?, क्या आप दुखी हैं, या फिर आप अकेले हैं इसीलिए पीना चाहते हैं।

दोस्तों, कारण कोई भी हो बस आपको शराब के दुष्प्रभाव से डरना होगा। हमारा मक़सद आपको डरना नहीं है लेकिन जब तक आप डरेंगे नहीं तबतक आप शराब पीना नहीं छोड़ सकते।

सफलतापूर्वक शराब छोड़ने के लिए आपको निचे दिए गए कुछ घरेलु नुख्सो को अपनाना होगा। यह 10 प्रभावी sharab chudane ke upay को अपनाने से कई लोग अपनी शराब की लत को छोड़ चुके हैं।

अश्वगंधा (Ashwagandha)

जब Sharab Chudane ke gharelu upay के बारे में बात होती है तो अश्वगंधा का नाम सबसे पहले आता है

अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक पौधा है जो कई सालों से तरह तरह की बीमारियों को ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है।

आयुर्वेद में इसे ‘अजवारा’ के नाम से भी जाना जाता है। इसका उपयोग शराब वापसी वाले रोगियों को ठीक करने के लिए भी किया जाता है। यह शराब छोड़ने या शराब वापसी से निपटने के लिए शरीर की क्षमता को भी बढ़ाता है।

अश्वगंधा, शराब छोड़ने से होने वाली निराशा, mood ख़राब और चिड़चिड़ेपन को भी दूर करने में मदद करता है।

अश्वगंधा Powder और tablet के में रूप में की भी ayurvedic store या online store में मिल जाता है। आप दोनों में से कोई भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे इस्तेमाल करें:

यदि आप अश्वगंधा का चूर्ण इस्तेमाल कर रहे हैं तो रोज़ाना रात को सोने से पहले 1/2 चम्मच चूर्ण को 1 गिलास गुनगुने दूध में मिला कर पिएं।

और अगर आप टेबलेट ले रहे हैं तो रोज़ाना 1 टेबलेट रात को सोते वक़्त गुनगुने दूध के साथ ले सकते हैं।

धयान रखें: शराब की लत को छोड़ने के लिए आपको कम से कम 10 दिनों तक अश्वगंधा का सेवन करना होगा। 

तुलसी पत्ता (Basil leaves)

Basil leaves

आप में से बहुत कम लोग जानते होंगे की तुलसी के पत्तों के इस्तेमाल से शराब छोड़ी जा सकती है।

तुलसी में भरपूर मात्रा में antioxidant होता है जो शरीर में से toxins को बहार निकलने में मदद करता है।

यह भी पाया गया है कि तुलसी शराब वापसी के लक्षणों को कम करने में मदद करती है।

साल 1993 में researchers की एक टीम ने तुलसी पर research किया। और रिसर्च में पाया की तुलसी के इस्तेमाल से शराब की लत को 35% तक कम किया जा सकता है।

कैसे इस्तेमाल करें:

थोड़े से तुलसी के पत्तो को 4-5 काली मिर्च के साथ रात को उबाल कर ठंडा कर लें और फिर सुबह खली पेट पिएं। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में शराब पीने की इक्छा ख़त्म हो जाती है।

अंगूर (Grapes)

शराब वापसी के लक्षणों में मदद करने के लिए अंगूर एक प्राकृतिक तरीका है। क्युकी अंगूर में proline नाम का एक Amino Acid होता है। यह एसिड हमारे दिमाग में GABA नाम के Neurotransmitter को बढ़ाने में मदद करता है। जिस वजह से शराब छोड़ने से होने वाले Psychological Withdrawal Symptoms को यह कम करता है।

इतना ही नहीं बल्कि अंगूर का सेवन हमारे लिवर से Toxins को निकलने में भी मदद करता है।

कैसे इस्तेमाल करें:

25 दिनों तक रोज़ाना 50-50 ग्राम अंगूर को दिन में 4 बार खाएं। इसके अलावा आप 200 ग्राम अंगूर का जूस निकाल कर इसे खाली पेट भी पी सकते हैं। दोनों ही तरीके असरदार हैं।

 

करेले का जूस (Bitter Gourd Juice)

Bitter Gourd Juice

करेले का रस उन लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प है जो शराब की लत से लड़ना चाहते हैं। इसे Sharab Chudane ke gharelu upay में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है।

करेले के रस में Antioxidants की मात्रा अधिक होती है, जो शरीर से Toxins को निकालने में मदद करता है और शराब पीने की इक्छा को ख़त्म करता है।

शराब पीने से लिवर को हुए नुक्सान को ठीक करने में भी करेले का जूस बहुत Effective होता है।

कैसे इस्तेमाल करें:

यदि आप रोज़ सुबह उठ कर खाली पेट 50ml करेले का जूस पीते हैं तो आपको एक हफ्ते में ही इसका असर दिखना शुरू हो जायेगा।

करेले का जूस काफी कड़वा होता है तो शायद आपको इसे पीने में अच्छा न लगे। इसके कड़वेपन को हल्का करने के लिए 50ml करेले के जूस में आप थोड़ा सा छाछ (Buttermilk) मिला कर भी पी सकते हैं।

यदि आप इसे रोज़ाना पीते हैं तो आपको इसका फायदा 25 दिनों के अंदर ही देखने को मिल जायेगा।

सेब और गाजर का जूस (Apple and Carrot juice)

apple and carrot juiceसेब और गाजर में भरपूर मात्रा में antioxidants होते हैं जो आपको कई बीमारियों से दूर रखते हैं। लेकिन क्या आपको पता है की सेब और गाजर का जूस आपकी शराब की लत को भी ख़त्म कर सकता है ?

सेब और गाजर के जूस का सेवन करने से शराब पीने की इक्छा कम हो जाती है और शराब छोड़ने में आसानी होती है।

इतना ही नहीं बल्कि, यह जूस लिवर और किडनी को detoxify करता है और खून को purify भी करता है।

कैसे इस्तेमाल करें:

एक सेब और एक गाजर का जूस बना कर रोज़ाना सुबह उठते ही खली पेट पिएं। 

इसके अलावा अगर आपको जब जब शराब पीने की इक्छा करे तो आप थोड़ा सेब और गाजर काट कर भी खा सकते हैं।

खजूर (Dates)

Dates (khajoor)

खजूर भी शराब की लत को ख़त्म करने के लिए बेहद उपयोगी है। खजूर में काफी मात्रा में fructose होता है जो metabolism को बढ़ता है।

इसके अलावा खजूर में antioxidant गुण होते हैं जो शरीर से toxins को बहार निकलते हैं और लिवर को शराब से हुए नुकसान को ठीक करने में भी मदद करते हैं।

कैसे इस्तेमाल करें:

खजूर के कुछ टुकड़ों को गर्म पानी में डालें और हलके हाथों से से कुछ देर तक पानी में रगड़ें।

बचें हुए पानी को छान कर पी जाएं।

आपको यह खजूर का पानी रोज़ाना तीन से चार बार हर दिन पीना है।

और पढ़ें: Sabse Sasta Diet Plan | Best Healthy Diet plan in 2022

दोस्तों, यह कुछ Sharab Chudane ke gharelu upay थे जो आपकी शराब पीने की लत को ख़त्म कर देंगे।

इन नुस्खों पर निर्भर रहने के साथ-साथ आप अपनी शराब की लत को दूर करने के लिए कुछ और कदम भी उठा सकते हैं जैसे:

  • हर दिन 4 से 5 लीटर पानी पिएं
  • हर दिन 20-25 मिनट व्यायाम करें
  • 5 से 10 मिनट योग करें
  • अच्छा और संतुलित भोजन करें

दोस्तों, शराब छुड़ाने के लिए टोने-टोटकों जैसे अन्धविश्वास से बचें। इंटरनेट में ऐसी बहुत सारी Websites हैं जो इस प्रकार के अन्धविश्वास को दिखा कर उन्हें बढ़ावा देती हैं।

Herb Home Cure
Herb Home Cure
Articles: 39

Leave a Reply

Your email address will not be published.