हाई ब्लड प्रेशर से पाएं छुटकारा, आजमाएं ये प्राकृतिक और घरेलु उपाय

हाई ब्लड प्रेशर, जिसे आमतौर पर उच्च रक्तचाप के रूप में जाना जाता है, एक ऐसी गंभीर स्थिति है जो भारत में एक बड़ी चिंता के रूप में उभर रही है। इंडिया काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत में हर चार में से एक वयस्क हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित है। यह रिपोर्ट अपने आप में बेहद चिंताजनक है।

हाई ब्लड प्रेशर बिना किसी चेतावनी संकेत के गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकता है। यदि आप लम्बे समय से हाई ब्लड प्रेशर से परेशान हैं तो सावधान हो जाएं। पेन हार्ट एंड वैस्कुलर सेंटर वाशिंगटन स्क्वायर के जाने माने चिकित्सक कॉलिन ए. क्राफ्ट बताते हैं की यदि आपका ब्लड प्रेशर बहुत अधिक समय तक बहुत ज्यादा रहता है, तो आपको हृदय रोग, स्ट्रोक, गुर्दे की बीमारी या धमनीविस्फार (aneurysm) होने का जोखिम काफी बढ़ जाता है।

लेकिन अच्छी खबर यह है कि आप अपनी जीवनशैली में बदलाव करके अपने ब्लड प्रेशर को स्वाभाविक रूप से कम कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे असरदार प्राकृतिक और घरेलु उपचार बताएँगे जिनकी मदद से आप अपने हाई ब्लड प्रेशर को कम कर सकेंगे। लेकिन उससे पहले आपको कुछ बातें जाननी चाहिए जैसे कि हाई ब्लड प्रेशर क्या है, इसके लक्षण और कारण क्या हैं। यदि आप यह सब पहले से ही जानते हैं, तो आप इसे छोड़ सकते हैं और इस लेख में आगे बढ़ सकते हैं। और जिन लोगों को इन सभी विषयों के बारे में जानकारी नहीं है तो उनके लिए यह लेख थोड़ा लंबा हो सकता है।

Table of Contents hide

हाई ब्लड प्रेशर क्या है? – What is High Blood Pressure in Hindi

हाई ब्लड प्रेशर एक ऐसी स्थिति है जिसमें आपकी हृदय की धमनियों की दीवारों के खिलाफ आपके खून का बल इतना अधिक होता है कि यह अंततः हृदय रोग जैसी स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है।

ब्लड प्रेशर को मापने वाली दो संख्याएँ होती हैं: सिस्टोलिक और डायस्टोलिक। सिस्टोलिक ऊपर वाली संख्या होती है। जब आपका दिल धड़कता है तो यह आपकी धमनियों में दबाव को मापता है। जबकि डायस्टोलिक नीचे की संख्या होती है। और यह आपके दिल की धड़कन के बीच आपकी धमनियों में दबाव को मापता है।

एक सामान्य ब्लड प्रेशर की रीडिंग 120/80 mmHg से कम होती है। यदि आपका सिस्टोलिक रक्तचाप 140 या अधिक है, या यदि आपका डायस्टोलिक रक्तचाप 90 या अधिक है, तो आपको उच्च रक्तचाप है। ब्लड प्रेशर को चार श्रेणियों में विभाजित किया जाता है:

Blood pressure categories

  • स्वस्थ (Healthy) – एक स्वस्थ ब्लड प्रेशर की रीडिंग 120/80 mmHg से कम होती है।
  • एलिवेटेड (Elevated) – एलिवेटेड ब्लड प्रेशर की सिस्टोलिक रीडिंग 120 से 129 होती है और डायस्टोलिक की रीडिंग 80 से कम होती है। हाई ब्लड प्रेशर की इस श्रेणी में दवा लेने की कोई आवश्यकता नहीं पड़ती। इसके बजाय, जीवनशैली में बदलाव करके इसे कम किया जा सकता है।  
  • स्टेज 1 ह्यपरटेंशन (Stage 1 hypertension) – अगर आपके ब्लड प्रेशर की रीडिंग 140/90 या इससे ज्यादा है, तो आपको स्टेज 1 हाइपरटेंशन है। हालांकि इसे अभी भी एक सामान्य रीडिंग माना जाता है, अगर यह इससे अधिक होता है तो यह आपको स्टेज 2 हाइपरटेंशन और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम में डाल सकता है।
  • स्टेज 2 ह्यपरटेंशन (Stage 2 hypertension) – अगर आपके ब्लड प्रेशर की रीडिंग लगातार 140/90 से ऊपर रहती है, तो आपको स्टेज 2 हाइपरटेंशन हो सकता है। यह एक गंभीर स्थिति है जिसमें इससे होने वाली जटिलताओं को रोकने के लिए उपचार की आवश्यकता होती है।
  • हाइपरटेंसिव क्राइसिस (Hypertensive crisis) – अगर आपके ब्लड प्रेशर की रीडिंग 180/120 से ऊपर है तो यह हाइपरटेंसिव क्राइसिस है। यह हाई ब्लड प्रेशर का एक गंभीर रूप है  जिसके लिए तत्काल चिकित्सा की आवश्यकता होती है।

यदि आपके ब्लड प्रेशर की रीडिंग लगातार 120/80 mmHg से ऊपर रहती है तो आपको हाई ब्लड प्रेशर है। हाई ब्लड प्रेशर का स्तर आपकी धमनियों, हृदय और गुर्दे को नुकसान पहुंचा सकता है और स्ट्रोक या हार्ट फेल का कारण बन सकता है।

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण – Symptoms of High Blood Pressure in Hindi

हाई ब्लड प्रेशर के कोई शुरुआती लक्षण नहीं होते हैं। यदि आपका ब्लड प्रेशर बहुत अधिक है, तो आपको कुछ लक्षणों का अनुभव हो सकता है जैसे:

  • सिरदर्द
  • सीने में दर्द
  • सांस लेने में तकलीफ
  • छाती में दर्द होना
  • अनियमित दिल की धड़कन
  • दृष्टि संबंधी समस्याएं जैसे धुंधला दिखना, दिखना बंद होना
  • नाक से खून बहना
  • थकान या उलझन होना
  • पेशाब में खून आना
  • छाती, गर्दन, या कान में धक-धक होना

लोगों को कभी-कभी ऐसा लगता है कि अन्य लक्षण हाई ब्लड प्रेशर से संबंधित हो सकते हैं, लेकिन जरुरी नहीं है की ऐसा ही हो। यदि आपको निम्न में से कोई भी लक्षण है तो यह अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से भी संबंधित हो सकता है।

  • चक्कर आना
  • घबराहट होना
  • पसीना आना
  • नींद न आना
  • चेहरा लाल पड़ना

हाई ब्लड प्रेशर के कारण – Causes of High Blood Pressure in Hindi

ऐसी कई चीजें हैं जिनके कारण हाई ब्लड प्रेशर हो सकता है, जिनमें मुख्य रूप से आनुवंशिकी (जेनेटिक्स), असंतुलित आहार, और जीवनशैली शामिल हैं। इसके अतिरिक्त हाई ब्लड प्रेशर के कई अन्य संभावित कारण भी होते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • मोटापा – मोटापा हाई ब्लड प्रेशर का एक प्रमुख कारण है। मोटापा होने पर आपके हृदय को आपके शरीर में खून पंप करने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है। इसी के चलते हाई ब्लड प्रेशर हो सकता है। इसके अलावा, मोटापा आपकी धमनियों में सूजन और उसको नुकसान पंहुचा सकता है जिससे हाई ब्लड प्रेशर हो सकता है।
  • बहुत अधिक नमक वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करना – बहुत अधिक नमक वाली चीज़ें खाने से भी हाई ब्लड प्रेशर हो सकता है क्योंकि यह शरीर में पानी बनाए रखता है। यह अतिरिक्त पानी हृदय और रक्त वाहिकाओं पर दबाव डालता है, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है।
  • बहुत अधिक शराब या कैफीन का सेवन करना – शराब और कैफीन दोनों उत्तेजक हैं, जिसका अर्थ है कि वे आपके ब्लड प्रेशर को बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा, शराब निर्जलीकरण यानी डिहाइड्रेशन का कारण बन सकती है, जिससे हाई ब्लड प्रेशर भी हो सकता है।
  • धूम्रपान करना – धूम्रपान हाई ब्लड प्रेशर के प्रमुख कारणों में से एक है। जब आप धूम्रपान करते हैं, तो सिगरेट में मौजूद रसायन आपकी रक्त वाहिकाओं (blood vessels) को नुकसान पहुंचाते हैं और उन्हें संकरा कर देते हैं। धूम्रपान आपके हृदय गति को भी बढ़ाता है और आपके हृदय पर अतिरिक्त दबाव डालता है।
  • पर्याप्त नींद न लेना – नींद की कमी भी हाई ब्लड प्रेशर का कारण बन सकती है। जब आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, तो आपके शरीर में तनाव वाले हार्मोन बढ़ जाते हैं, जिससे हाई ब्लड प्रेशर हो सकता है।
  • अधिक तनाव में रहना – अधिक तनाव में रहने से भी हाई ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। जब आप तनाव में होते हैं, तो आपकी हृदय गति बढ़ जाती है और आपकी रक्त वाहिकाएं सिकुड़ जाती हैं, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है।
  • उम्र का बढ़ना – जैसे-जैसे हम बड़े होते हैं, हमारी रक्त वाहिकाएं कम लचीली हो जाती हैं और आपका हृदय कम कुशलता से पंप करता है, जिससे हाई ब्लड प्रेशर हो सकता है।

आपको यह जानकर आश्चर्य हो सकता है कि हाई ब्लड प्रेशर के अन्य संभावित कारण भी हैं, जैसे स्लीप एपनिया, गुर्दे की बीमारी और थायराइड की समस्याएं। यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर है, तो यह समझना जरूरी है कि इसके कई संभावित कारण हो सकते हैं। इनमें से कुछ कारण आपके नियंत्रण से बाहर होते हैं, फिर भी कुछ चीजें हैं जिनसे आप अपने ब्लड प्रेशर को कम कर सकते हैं।

हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के प्राकृतिक उपाय – Natural Remedies for High Blood Pressure in Hindi

हाई ब्लड प्रेशर के लिए कई प्राकृतिक उपचार हैं जो प्रभावी हैं। यदि आप अपने हाई ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए प्राकृतिक उपायों की तलाश कर रहे हैं, तो निचे बताए गए उपायों को आजमा सकते हैं। ये सभी उपाय वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित हैं।

नियमित रूप से व्यायाम करें

जब हाई ब्लड प्रेशर के प्राकृतिक उपचार की बात आती है, तो व्यायाम को अक्सर अनदेखा कर दिया जाता है। लेकिन सच्चाई यह है कि नियमित रूप से व्यायाम करने से हाई ब्लड प्रेशर का स्तर काफी कम किया जा सकता है। दिन में केवल 30 मिनट का मध्यम व्यायाम आपके ब्लड प्रेशर को 4 mmHg तक कम करने में मदद कर सकता है।

इसके अतिरिक्त, व्यायाम आपको वजन कम करने में मदद करता है, जिससे हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में भी मदद मिलती है। साथ ही, यह आपके दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है और आपकी रक्त वाहिकाओं को मजबूत करता है।

नमक का सेवन कम करें

हम सभी जानते हैं कि बहुत अधिक नमक वाली चीजों का सेवन करना हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह हाई ब्लड प्रेशर का कारण भी बन सकता है? अतिरिक्त नमक आपके ब्लड प्रेशर को बढ़ा सकता है, जिससे आपको हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा हो सकता है।

इसलिए यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर है, तो आपको नमक के सेवन को प्रति दिन 2,300 मिलीग्राम से अधिक नहीं करना चाहिए। ध्यान रखें कि प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थों में अधिक मात्रा में नमक होता है, इसलिए जितना हो सके प्रोसेस्ड फूड से परहेज करें। अधिकतर घर पर बना भोजन ही खाएं। इस तरह, आप अपने भोजन में नमक की मात्रा को नियंत्रित कर सकते हैं।

शराब का सेवन न करें

शराब हाई ब्लड प्रेशर का एक सामान्य कारण है। जब आप शराब पीते हैं, तो आपकी रक्त वाहिकाएं सिकुड़ जाती हैं, जिससे आपका ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर है, तो आपको शराब से बचना चाहिए या इसे कम मात्रा में पीना चाहिए।

बहुत अधिक शराब पीने से अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी हो सकती हैं, जैसे कि लीवर की बीमारी और मोटापा। यदि आप शराब पीना छोड़ना चाहते हैं तो हमारा लेख Sharab Chudane ke gharelu upay | शराब छुड़ाने के घरेलू उपाय पढ़ें।

वजन कम करें

अधिक वजन होने से आपके दिल और रक्त वाहिकाओं पर दबाव पड़ता है, जो हाई ब्लड प्रेशर का कारण बन सकता है। इसलिए, यदि आप अपना ब्लड प्रेशर कम करना चाहते हैं, तो सबसे अच्छी चीजों में से एक जो आप कर सकते हैं वह है वजन कम करना।

इतना ही नहीं, कुछ पाउंड वजन घटाने से भी आपके ब्लड प्रेशर को कम करने और आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है।

धूम्रपान छोड़ें

धूम्रपान हाई ब्लड प्रेशर के प्रमुख कारणों में से एक है। जब आप धूम्रपान करते हैं, तो निकोटीन आपकी हृदय गति को बढ़ाता है और आपकी रक्त वाहिकाओं को संकुचित करता है, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। इसके अलावा, धूम्रपान आपकी धमनियों की परत को नुकसान पहुंचाता है, जिससे हृदय रोग विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है।

यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर है, तो धूम्रपान छोड़ना आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए सबसे अच्छी चीजों में से एक है। धूम्रपान छोड़ने के लिए हमारा लेख How To Quit Smoking in Hindi – धूम्रपान छोड़ने का आसान तरीका को पढ़ें।

तनाव कम करें

हम सभी जानते हैं कि तनाव कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इससे हाई ब्लड प्रेशर भी हो सकता है? जब आप तनाव में होते हैं, तो आपका शरीर कोर्टिसोल नामक एक हार्मोन छोड़ता है। यह हार्मोन आपकी रक्त वाहिकाओं को संकुचित करता है, जिससे आपका ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। यदि आप लगातार तनाव में रहते हैं, तो आपका ब्लड प्रेशर लंबे समय तक बना रह सकता है, जिससे आपको हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा हो सकता है।

यदि आप हाई ब्लड प्रेशर से जूझ रहे हैं, तो अपने जीवन में तनाव को कम करने के तरीके ढूंढें। मैडिटेशन, गहरी सांस लेना और प्रकृति में समय बिताना आपके तनाव के स्तर को कुछ हद तक कम कर सकते हैं। इसके अलावा, व्यायाम और स्वस्थ आहार खाना भी तनाव को कम कर सकते हैं। जीवनशैली में इन बदलावों को अपनाकर आप अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने में मदद कर सकते हैं।

अतिरिक्त चीनी और रिफाइंड कार्ब्स का सेवन कम करें

आप अपने भोजन से अतिरिक्त चीनी और रिफाइंड कार्ब्स को कम करने से भी हाई ब्लड प्रेशर को कम किया जा सकता है। चीनी और रिफाइंड कार्ब्स आपके ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ाते हैं, जिससे हाई ब्लड प्रेशर हो सकता है। इन खाद्य पदार्थों को अपने भोजन से निकालकर आप अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने में मदद कर सकते हैं।

चीनी और कार्ब्स को कम करने के अलावा, आप अपने आहार में अधिक साबुत अनाज, फल और सब्जियां शामिल करने का भी प्रयास कर सकते हैं। ये स्वस्थ खाद्य पदार्थ आपकी धमनियों को साफ और आपके दिल को स्वस्थ रखकर ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद कर सकते हैं।

डार्क चॉकलेट

डार्क चॉकलेट खाकर आप अपने हाई ब्लड प्रेशर का इलाज कर सकते हैं। डार्क चॉकलेट में पाए जाने वाला फ्लेवोनोइड्स (flavonoids) रक्त वाहिकाओं को आराम देने और रक्तचाप को कम करने में मदद करता है।

साथ ही, डार्क चॉकलेट मैग्नीशियम का भी एक अच्छा स्रोत है, जो ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है। यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर है, तो आपको हर दिन कम से कम 25 ग्राम डार्क चॉकलेट खाने की कोशिश करनी चाहिए।

मैडिटेशन (ध्यान)

हाई ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए मेडिटेशन एक प्रभावी प्राकृतिक तरीका है। हाइपरटेंशन जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि जो लोग प्रतिदिन 30 मिनट ध्यान करते हैं, उनके सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर में (ऊपरी संख्या) में औसतन 4.7 अंक की गिरावट देखी गई जबकि उनके डायस्टोलिक ब्लड प्रेशर (नीचे की संख्या) में औसतन 3.5 की गिरावट देखी गई।

सबसे अच्छी बात यह है की आप इसे कहीं भी, कभी भी कर सकते हैं। बस एक शांत जगह खोजें, बैठें या लेटें और अपनी आँखें बंद कर लें। अपनी सांस पर ध्यान केंद्रित करें और अन्य सभी विचारों को अपने दिमाग से दूर करें।

हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के घरेलु उपाय – Home Remedies for High Blood Pressure in Hindi

यदि आप हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से जूझ रहे हैं और डॉक्टर के पर्चे की दवाओं या सर्जरी के बिना लक्षणों को कम करना चाहते हैं, तो ऐसे कई आसान घरेलू उपचार हैं जिन्हें आप आजमा सकते हैं। यहाँ हाई ब्लड प्रेशर के लिए कुछ सरल घरेलू उपचार दिए गए हैं जो बहुत प्रभावी हैं और कई लोगों द्वारा आजमाए और परखे गए हैं।

लहसुन खाएं – Garlic for High Blood Pressure in Hindi

लहसुन हाई ब्लड प्रेशर के लिए एक प्राकृतिक उपचार है जिसका उपयोग सदियों से किया जाता रहा है। कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि लहसुन रक्त वाहिकाओं को आराम देकर और रक्त प्रवाह में सुधार करके ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद कर सकता है।

हाई ब्लड प्रेशर के लिए रोज़ाना दिन में ताजा लहसुन की 1 से 4 कलियां खाएं। बेहतर परिणामों के लिए कोशिश करें कि हर सुबह खाली पेट कम से कम 1 लहसुन की कली का सेवन करें। इसके अलावा आप इसे अपने भोजन में भी शामिल कर सकते हैं, या इसे सप्लीमेंट के रूप में भी ले सकते हैं।

प्याज का रस – Onion Juice for High Blood Pressure in Hindi

हाई ब्लड प्रेशर के लिए प्याज का रस एक लोकप्रिय घरेलू उपचार है। प्याज में भरपूर मात्रा में क्वेरसेटिन (quercetin) होता है। यह एक प्रकार का फ्लेवोनोइड (flavonoid) है जो ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है। क्वेरसेटिन एक एंटीऑक्सिडेंट है जो रक्त वाहिकाओं को स्वस्थ रखने में मदद करता है और हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकता है।

एक अध्ययन में पाया गया कि चार सप्ताह तक प्रतिदिन प्याज का रास पीने से से उच्च रक्तचाप वाले लोगों में सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर 4-5 mmHg और डायस्टोलिक ब्लड प्रेशर 2-3 mmHg तक कम हो जाता है। प्याज का रस उच्च रक्तचाप से संबंधित अन्य स्थितियों, जैसे एथेरोस्क्लेरोसिस (atherosclerosis) और हृदय रोग में भी सुधार करने में मदद कर सकता है।

प्याज के रास को हाई ब्लड प्रेशर के लिए इस्तेमाल करने के लिए एक चम्मच प्याज के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार सुबह और शाम लें। अतिरिक्त लाभ के लिए आप सूप, स्टॉज और सलाद में भी प्याज का रस मिला सकते हैं।

नींबू का रस – Lemon Juice for High Blood Pressure in Hindi

नींबू का रस हाई ब्लड प्रेशर के लिए सबसे लोकप्रिय घरेलू उपचारों में से एक है। नींबू विटामिन सी से भरपूर होते हैं, इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स आपकी रक्त वाहिकाओं को स्वस्थ रखने में मदद करते है और हाई ब्लड प्रेशर को कम करते हैं।

इस उपाय का उपयोग करने के लिए, 1 चम्मच नींबू के रस और पानी को बराबर मात्रा में मिलाकर दिन में एक या दो बार पियें। आप स्वाद के लिए उसमें थोड़ा सा शहद भी मिला सकते हैं।

अदरक – Ginger for High Blood Pressure in Hindi

जब हाई ब्लड प्रेशर के घरेलू उपचार की बात आती है, तो अदरक सबसे प्रभावी उपचारों में से एक है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अदरक एक प्राकृतिक ACE अवरोधक है, जिसका अर्थ है कि यह रक्त वाहिकाओं को आराम देने और रक्त प्रवाह में सुधार करने में मदद करता है।

यह न केवल हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है, बल्कि यह ब्लड सर्कुलेशन में भी सुधार कर सकता है। आप अदरक को कैप्सूल या पाउडर के रूप में ले सकते हैं, या इसे अपने भोजन में भी शामिल कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें की दिन में किसी भी रूप में 4 ग्राम से अधिक अदरक का सेवन न करें।

टमाटर का जूस – Tomato Juice for High Blood Pressure in Hindi

हाई ब्लड प्रेशर के लिए टमाटर का रस एक बेहतरीन उपाय है। टमाटर में मौजूद लाइकोपीन (lycopene) आपकी रक्त वाहिकाओं को स्वस्थ रखने और हाई ब्लड प्रेशर को रोकने में मदद कर सकता है। साथ ही, टमाटर पोटेशियम का एक अच्छा स्रोत हैं, जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।

अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने के लिए हर रोज एक गिलास टमाटर का रस जरूर पिएं। टमाटर के रस को और अधिक स्वादिष्ट बनाने के लिए आप उसमें लहसुन, प्याज, या अजवाइन जैसी अन्य सामग्री भी मिला सकते हैं।

मेथीदाना – Fenugreek for High Blood Pressure in Hindi

मेथी एक जड़ी बूटी है जिसका उपयोग सदियों से पारंपरिक चिकित्सा में किया जाता रहा है। मेथी फाइबर से भरपूर होती है, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रण में रखकर ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद कर सकती है।

हाई ब्लड प्रेशर में मेथी का उपयोग करने के लिए, एक चम्मच मेथी के बीज लें और उन्हें पीसकर पाउडर बना लें। इस पाउडर को एक गिलास गर्म पानी में मिलाकर दिन में एक बार पिएं। आप खाने में भी मेथी का पाउडर इस्तेमाल कर सकते हैं।

करेला – Bitter Gourd for High Blood Pressure in Hindi

रेला हाई ब्लड प्रेशर के लिए एक लोकप्रिय घरेलू उपाय है। करेले में सक्रिय तत्व कुकुर्बिटासिन होता है, जो ब्लड प्रेशर को कम करता है। इसके अलावा, करेला विटामिन सी और बी1 का भी अच्छा स्रोत है।

इस उपाय को इस्तेमाल करने के लिए रोजाना एक कप ताजा करेले के जूस का सेवन करें। स्वाद को बेहतर बनाने के लिए आप इसमें थोड़ा सा शहद भी मिला सकते हैं।

डॉक्टर से कब संपर्क करें?

यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर है, तो डॉक्टर को देखना ज़रूरी है। हालांकि, ऊपर बताये गए घरेलू उपचार आपके ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद कर सकते हैं, लेकिन जब आपका ब्लड प्रेशर लगातार 140/90 mmHg से अधिक रहता है, तो यह अधिक गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है। यदि आप निम्न में से किसी भी लक्षण का अनुभव कर रहे हैं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें:

  • भयानक सरदर्द
  • धुंधली दृष्टि
  • सांस लेने में कठिनाई
  • छाती में दर्द
  • अनियमित दिल की धड़कन
  • असामान्य रूप से ठंडा या गर्म महसूस करना

इसके अलावा यदि आपकी उम्र 40 वर्ष से अधिक है, या आपके परिवार में हाई ब्लड प्रेशर का इतिहास है, तो भी आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

Herb Home Cure
Herb Home Cure
Articles: 39