Candiforce 200 Mg Capsule Uses in Hindi – फायदे, दुष्प्रभाव व अन्य जानकारी

Candiforce 200 Mg Capsule एक तरह की एंटीफंगल दवा है जिसका इस्तेमाल फंगस और यीस्ट के कारण होने वाले इन्फेक्शन के उपचार में किया जाता है। यह दवा फफूंद/कवक  (fungi) को बढ़ने से रोकती है और त्वचा, मुंह, नाखून, हाथ, पैर, पाचन तंत्र, गले, योनि और शरीर के दूसरे हिस्सों के विभिन्न फंगल संक्रमणों के इलाज में प्रयोग की जाती है।

Candiforce capsule को Mankind pharma लिमिटेड द्वारा निर्मित किया गया है। इसमें Itraconazole होता है जो एंटीफंगल दवाओं के समूह के अंतर्गत आता है। यह एर्गोस्टेरॉल (ergosterol) के उत्पादन को रोकने का काम करता है। एर्गोस्टेरॉल एक स्टेरोल (sterol) है जो फफूंद/कवक की झिल्ली में पाया जाता है। यह कवक कोशिका झिल्ली को कमजोर कर देता है और मार देता है  जिससे कोशिकाओं में मौजूद मुख्य घटक बाहर निकल जाते हैं। इस प्रकार से यह कवक को मारता है और कवक संक्रमण को साफ करता है।

Table of Contents hide

Candiforce 200 Mg कैप्सूल के उपयोग व लाभ – Candiforce 200 Mg Capsule Uses in Hindi

Candiforce 200 Mg Capsule का इस्तेमाल मुख्य रूप से फंगल इन्फेक्शन के इलाज के लिए किया जाता है। इसका उपयोग Trichophyton spp., Microsporum spp., और Epidermophyton floccosum. के कारण होने वाले इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए किया जाता है। ये सभी कवक की प्रजातियां हैं।  

यह दवा शरीर के किसी भी हिस्से जैसे मुंह, गले, खोपड़ी, फेफड़े, कमर, कूल्हों, योनि, उंगलियों, नाखून, पैर की उंगलियों आदि में होने वाले फंगल संक्रमण के इलाज में बेहद प्रभावी है। इसके अलावा इस दवा को दूसरी स्थितियों में भी इस्तेमाल किया जाता है जैसे:

1. क्रिप्टोकोक्कोसिस – Cryptococcosis

यह एक प्रकार का इन्फेक्शन है जो Cryptococcus नाम के कवक के कारण होता है। Cryptococcus एक सामान्य कवक है जो मिटटी और पक्षियों के मल में पाया जाता है।

Cryptococcosis एक गंभीर संक्रमण है जो दिमाग और रीढ़ की हड्डी में फैलता है। यह इन्फेक्शन आमतौर पर स्वस्थ लोगों में नहीं पाया जाता। यह इन्फेक्शन उन लोगों में अधिक पाया जाता है जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली (Immunity) कमजोर होती है या जो लोग HIV या लिवर सिरोसिस से पीड़ित होते हैं।

Candiforce दवा Cryptococcosis के उपचार में डॉक्टर द्वारा इस्तेमाल की जाती है। यह Cryptococcosis में होने वाले सिरदर्द, मतली और उल्टी, थकान, भ्रम, बुखार, धुंधलापन, आदि जैसे लक्षणों में सुधर करके रोग को ठीक करने में मदद कर सकती है।

2. अस्पेर्गिल्लुस – Aspergillus

Aspergillus एक प्रकार के मोल्ड (कवक) के कारण होने वाला संक्रमण है।  मोल्ड एक तरह का सामान्य कवक है जो घर के अंदर और बाहर पाया जाता है। अधिकतर लोग इसे सांस के द्वारा लेते हैं और बीमार भी नहीं होते। लेकिन कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली और फेफड़ों की बीमारी (अस्थमा, टीबी, कैंसर, COPD) वाले लोगों को इस संक्रमण का खतरा अधिक होता है।

यह इन्फेक्शन आमतौर पर श्वसन प्रणाली (Respiratory system) को प्रभावित करता है। Aspergillus से होने वाली समस्याओं में फेफड़ों का इन्फेक्शन, एलर्जिक रिएक्शन, और शरीर के अन्य अंगों में इन्फेक्शन शामिल हैं।

Candiforce का प्रयोग Aspergillus के इन्फेक्शन में भी किया जाता है। यह Aspergillus के लक्षणों जैसे बुखार, सीने में दर्द, खांसी, खांसी, खून की खांसी, सांस लेने में कठिनाई से राहत देता है।

3. हिस्टोप्लास्मोसिस – Histoplasmosis

Histoplasmosis एक कवक संक्रमण है जो हिस्टोप्लाज्मा नामक कवक के कारण होता है। यह कवक वातावरण में पाया जाता है, मुख्य रूप से मिटटी, पक्षियों और चमकादड़ के मल में पाया जाता है।

Histoplasmosis एक प्रकार का संक्रमण होता है जो मुख्य रूप से फेफड़ों में होता है लेकिन यह कभी-कभी पूरे शरीर में भी फैल सकता है। अधिकतर मामलों में इसमें इलाज की आव्यशकता नहीं होती। लेकिन कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों के लिए ये काफी गंभीर हो सकता है।

Candiforce दवा का इस्तेमाल इस संक्रमण को ठीक करने में भी किया जाता है। यह Histoplasmosis के लक्षण जैसे बुखार, सूखी खांसी, छाती में दर्द, जोड़ों में दर्द और निचले पैरों पर लाल धक्कों से आराम देता है।

4. ब्लास्टोमैक्सिस – Blastomycosis

Blastomycosis एक इन्फेक्शन है जो Blastomyces dermatitidis नामक कवक के कारण होता है। यह कवक विशेष रूप से नम मिट्टी और सड़ी हुई लड़की और पत्तों में रहता है।

आमतौर पर यह इन्फेक्शन उन लोगों में अधिक देखा जाता है जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है। इस इन्फेक्शन से संक्रमित लोगों में बुखार और खांसी जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं, और अगर इसका इलाज न किया जाए तो संक्रमण गंभीर भी हो सकता है। समय से इलाज़ न मिलने पर यह संक्रमण फेफड़ों से शरीर के दूसरे अंगो में भी फैल सकता है।

Candiforce का उपयोग Blastomycosis संक्रमण के उपचार में भी किया जाता है।

Candiforce 200 Mg कैप्सूल के साइड इफेक्ट्स – Candiforce 200 Mg capsule side effects

Candiforce 200 Mg capsule को इस्तेमाल करने के दौरान इसके निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। ये साइड इफेक्ट्स हर किसी व्यक्ति को हों ही ऐसा जरुरी नहीं है। आम तौर पर इन दुष्प्रभावों को आसानी से सहन किया जाता है यदि डॉक्टर के निर्देशों के अनुसार खुराक ली जाती है। सामान्य साइड इफेक्ट्स कुछ इस प्रकार हैं :

  • सिर दर्द
  • चक्कर आना
  • थकान
  • ब्लड प्रेशर बढ़ना
  • पेट में दर्द
  • कब्ज़
  • मितली और उलटी
  • दस्त
  • बाल झड़ना
  • नींद न आना

इसको इस्तेमाल करने से कुछ गंभीर दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं, लेकिन ये दुर्लभ हैं:

  • पीलिया
  • हेपेटाइटिस
  • नपुंसकता
  • हाईपोक्लेमिया
  • मासिक धर्म विकार

अगर इनमें से कोई भी दुष्प्रभाव लंबे समय तक बना रहे तो अपने डॉक्टर को सूचित करें।

Candiforce 200 Mg कैप्सूल कैसे इस्तेमाल करें – How to use Candiforce 200 Mg capsule

इस दवा की खुराक रोगी के रोग की गंभीरता और चिकित्सा इतिहास को ध्यान में रखते हुए डॉक्टर द्वारा दी जाती है। दवा का प्रयोग करते समय निम्न बातों का ध्यान रखें।

  • इस दवा का इस्तेमाल बिना डॉक्टर की सलाह के न करें।
  • डॉक्टर द्वारा सुझाये गए समय के लिए हे इस दवा को इस्तेमाल करें।
  • खुराख को डॉक्टर द्वारा बताये गए समय पर लें।
  • यदि आप दवा लेना भूल जाते हैं, तो याद आने पर तुरंत लें।
  • लेकिन छूटी हुई खुराक को अगली खुराक के साथ न लें। ऐसा करने से दवा का ओवरडोज़ हो सकता है।
  • डॉक्टर द्वारा दी गयी दवा का इस्तेमाल दवा खत्म होने तक जारी रखें, भले ही बीमारी के लक्षण गायब हो जाएं।
  • दवा को बिना डॉक्टर की अनुमति से रोकने से इन्फेक्शन फिर से शुरू हो सकता है।
  • पेट ख़राब होने से बचने के लिए दवा को भोजन के साथ ही लें।

Candiforce 200 Mg कैप्सूल की कीमत – Candiforce 200 Mg price

Candiforce किसी भी मेडिकल की दुकान या Apollopharmacy के ऑनलाइन स्टोर में मिल जाती है। इसके एक पत्ते में 7 कैप्सूल्स होती हैं। ऑनलाइन आर्डर करने के लिए निचे दिए गए बटन पर क्लिक करें।

अभी_खरीदें

Candiforce 200 Mg कैप्सूल के विकल्प – Candiforce 200 Mg substitutes

यदि आपके पास candiforce उपलब्ध नहीं होती है तो आप दूसरे विकल्पों को भी इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन किसी भी अन्य दवा का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करना आवश्यक है। Candiforce के विकल्प कुछ इस प्रकार हैं:

विकल्पकंपनी
Itraforce 200 CapsuleOmega Pharmaceuticals Pvt Ltd
Itrasys CF 200 CapsuleSystopic Laboratories Pvt Ltd
Seazole 200 CapsuleSeamark
I-Tyza 200 CapsuleAbbott
Canditral 200 CapsuleGlenmark Pharmaceuticals Ltd
Canditz 200 CapsuleGlenmark Pharmaceuticals Ltd
Itrason 200 CapsuleUnison Pharmaceuticals Pvt Ltd
Onitraz -Forte CapsuleKLM Laboratories Pvt Ltd
Candirap 200 CapsuleRapross Pharmaceuticals Pvt Ltd
Itrafree 200mg CapsuleForegen Healthcare Ltd
Fungiguard 200mg CapsuleFeodra Dermatology Laboratories
Lecinate 200 CapsuleMaverick Pharma Pvt Ltd

Candiforce 200 Mg कैप्सूल का अन्य दवाओं के साथ नकारात्मक प्रभाव -Candiforce 200 Mg drug Interactions

यदि आप निचे दिए गए किसी भी दवा को इस्तेमाल कर रहे हैं, इसकी जानकारी अपने डॉक्टर को दें। Candiforce कैप्सूल को इन दवाओं के साथ लेने में गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं।

दवाब्रांड
AlfuzosinEfzu, Alfuzee, Alfuflo
AmisulprideStozen, Sulpigold, Amisulide
AripiprazoleArifril, Biozol, Elrip
PhenoxybenzamineFenoben, Fenoxene
CarbamazepineCarbatrol, Epitol, Equetro, TEGretol.
TamsulosinUrimax, Velta, Contiflo Icon, Flodart Tablet PR
ChlorpromazineSun Prazin, Chlorpromazine, Serectil
Quetiapine Qutan (100 mg), Seroquin, Qutipin (50 mg)

Candiforce 200 Mg कैप्सूल को इस्तेमाल करने की सलाह – Candiforce 200 Mg capsule safety advice

  • शराब – Candiforce के साथ शराब का सेवन न करें क्योंकि इससे लिवर से सम्बंधित रोगों का खतरा बढ़ सकता है।
  • गर्भावस्था – गर्भावस्था में Candiforce का इस्तेमाल करना होने वाले बच्चे के लिए बिलकुल भी सुरक्षित नहीं है।
  • स्तनपान – स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इस दवा को इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। यह दवा दूध में घुल सकती है।
  • वाहन – इस दवा को इस्तेमाल करने से चक्कर, बहरापन और धुंधलापन हो सकता है। इसीलिए अगर आप दवा लेने के बाद अलर्ट रहते हैं, तो ही गाड़ी चलाएं।
  • जिगर यदि आपको कोई जिगर का रोग है या कभी किसी प्रकार की जिगर की बीमारी हुई है तो इस दवा का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।
  • गुर्दे – यदि आपको किसी भी तरह के गुर्दे की बीमारी है तो इस दवा को सावधानी से इस्तेमाल करें। दवा को इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर को अपने गुर्दे की बीमारी के बारे में बताएं।

फंगल इन्फेक्शन से कैसे बचें?

फंगल इन्फेक्शन से बचने के लिए नीचे दिए गए कुछ विशेष बातों का ध्यान रखें:

  • नियमित रूप से अपने मोज़े बदलें और अपने पैरों को अच्छी तरह से धोएँ। ऐसे जूते बिलकुल न पहने जिससे आपको पैरों में पसीना आये।
  • फंगल इन्फेक्शन से बचने के लिए गीले स्थानों जैसे, चेंजिंग रूम, जिम शावर में नंगे पैर न चलें।
  • अपने तौलिये, कंघी, चादरें, कपडे, जूते या जुराबें को दुसरो को इस्तेमाल न करने दें।
  • अपने शरीर की सफाई रखें और बाहर से आने के बाद स्नान अवश्य करें।
  • नहाने के बाद आपने शरीर को तोलिये से अच्छे से साफ़ करें।
  • हर दिन साफ कपड़े पहनें, खासकर मोजे, बनियान और अंडरवियर।

यह भी पढ़ें: कितने कदम चलना सही है? – Do You Really Need to Walk 10000 Steps a Day?

Candiforce 200 Mg कैप्सूल से सम्बंधित सवाल – Candiforce 200 Mg capsule FAQs

यह दवा कवक कोशिका झिल्ली को कमजोर कर देती है और कवक को मार देता है।

Candiforce कैप्सूल आमतौर पर सुरक्षित होती है यदि डॉक्टर की सलाह से इसे इस्तेमाल किया जाये तो। हालांकि इसके थोड़े बहुत साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं लेकिन उन्हें सहन किया जा सकता है।

Candiforce कैप्सूल 12 वर्ष से कम बच्चों के लिए सुरक्षित नहीं मानी जाती है। बिना डॉक्टर की सलाह के इसे बच्चों को न दें।

डॉक्टर द्वारा दिए गए खुराक की मात्रा के पूरा होने तक दवा का उपयोग जारी रखें।

इस दवा को अपना असर दिखाने में कितना समय लगेगा इसका अभी कोई निर्धारित समय नहीं है। हालांकि दवा लेने के 2-4 दिनों में आप बेहतर महसूस करने लगेंगे।

Herb Home Cure
Herb Home Cure
Articles: 39

Leave a Reply

Your email address will not be published.