दशमूल काढ़ा के फायदे और नुकसान

दशमूल काढ़ा एक प्रकार की आयुर्वेदिक दवा होती है। यह मानव शरीर के लिए बहुत ही अधिक लाभदायक दवा मानी जाती है। इससे आप अनेक रोगों का घर पर ही इलाज कर सकते हैं। इसका निरंतर सेवन करने से आप अनेक बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं। यह चिकित्सा क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण औषधि मानी जाती है। आज के इस लेख में हम आपको दशमूल काढ़ा के फायदे और नुकसान के बारे में बताएंगे।

दशमूल काढ़ा के फायदे और नुकसान

दशमूल काढ़ा के फायदे और नुकसान

दशमूल काढ़ा एक देशी औषधि होती है इसका चिकित्सा के क्षेत्र में बहुत ही अधिक महत्व होता है। इसका उपयोग अनेक बीमारियों को ठीक करने में किया जाता है। इसका निश्चित मात्रा में सेवन करना आपके शरीर के लिए लाभदायक हो होता है लेकिन अगर आप इसका उपयोग अधिक मात्रा में कर लेते हैं या गलत तरीके से कर लेते है तो यह आपके शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकती है। इसको सही उपयोग जाने के लिए डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।

दशमूल काढ़ा के फायदे

दशमूल काढ़ा एक आयुर्वेदिक औषधि है इसका उपयोग स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है। इसकी एक निश्चित मात्रा में सेवन करना ही आपके सेहत के लिए लाभदायक होता है। दशमूल काढ़ा के उपयोग से होने वाले फायदे निम्न प्रकार हैं…

पाचन तंत्र मजबूत करना

दशमूल काढ़ा का सेवन करने से आपका पाचन तंत्र मजबूत होता है। इसका सेवन करने से आपका पाचन रस उत्तेजित होता है जिससे आपका भोजन सहित तरीके से अपच्यी हो जाता है। इससे आपको कब्ज, दस्त और पेट फूलने जैसी समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है।

जोड़ो के दर्द से राहत

दशमूल काढ़ा में अनेक तरह की औषधियां शामिल होती है जो कि आपके जोड़ों के रोग को कम करने में मदद करती है। इसका सेवन करने से आप गांठिय तथा अन्य जोड़ों के रोग से आराम का सकते हैं।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना

दशमूल काढ़े का उपयोग सही तरीके से और निश्चित मात्रा में करने पर आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जिससे आप संक्रामक रोगों से छुटकारा पा सकते हैं। इसका सेवन करने से आप सर्दी, खांसी और बुखार जैसी संक्रामक बीमारियों से बच सकते हैं।

तनाव को कम करने में

डॉक्टर की सलाह से दशमूल काढ़ा का उपयोग करना आपकी सेहत के लिए लाभदायक हो सकता है। इसमें उपलब्ध औषधि आपके तनाव को काम करती है, जिससे आपका मन शांत रहता है और आपको अच्छी नींद आती है। इससे आप अनिंद्रा और अवसाद जेसी बीमारियों से छुटकारा पा सकते है।

मौसमी बीमारियों से छुटकारा

दशमूल काढ़े के निरंतर और सही मात्रा में उपयोग करने से आप मौसम बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं। इससे आप एलर्जी जैसे रोग का इलाज भी कर सकते है।

दशमूल काढ़ा के नुकसान

दशमूल काढ़े को सही मात्रा में उपयोग करने से आपको किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होता है क्योंकि यह शरीर के लिए लाभदायक माना जाता है, लेकिन जब आप इसका उपयोग अधिक मात्रा में या असमय पर करना शुरू कर देते हैं या आप एक गर्भवती महिला है तो यह आपके शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। इससे आपके शरीर पर दुष्प्रभाव दिखाई दे सकते हैं। इससे होने वाले नुकसान निम्न प्रकार है…

पेट में दर्द

अगर आप गर्भवती महिला है तो इसका सेवन करने पर आपको पेट में दर्द की शिकायत हो सकती हैं। गर्भवती महिला को इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए।

एलर्जी का होना

वैसे तो दशमूल काढ़ा का सेवन करने से आप एलर्जी की समस्या को दूर कर सकते हैं लेकिन इसका उपयोग अधिक मात्रा में कर लेते हैं तो इसे आपको एलर्जी की समस्या भी हो सकती है। जिस पर आपको तुरंत ही डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

Dashmool kwath uses In Hindi

दशमूल क्वाथ एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसका उपयोग हम स्वास्थ्य संबंधी रोगों के इलाज के लिए कर सकते है। इसे अनेक जड़ी बूटियों के मिश्रण से बनाया जाता है। लेकिन इसे चिकित्सक सलाह के रूप में नहीं माना जा सकता है अगर आप किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित है तो आपको डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए। दशमूल क्वाथ का उपयोग हम पाचन तंत्र को मजबूत करने, जोड़ो के दर्द से छुटकारा पाने, रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने तथा चिंता आदि को कम करने के लिए कर सकते है। इसे हम मधुमेह, मोटापा, तथा सांस की समस्याओं के इलाज करने के लिए भी कर सकते है।

अंतिम शब्द

दशमूल काढ़ा को 10 जड़ी बूटियां के मिश्रण से बनाया जाता है। अगर आपको किसी भी प्रकार की गंभीर बीमारी है तो इसका उपयोग ना करके आपको चिकित्सा की सलाह आवश्यक रूप से लेनी चाहिए। इसका सेवन सेहत के लिए लाभदायक होता है लेकिन कभी कभी इसके दुष्प्रभाव भी हो सकते है जिसकी जानकारी आपको इस लेख में दी गई है। स्तनपान कराने वाली महिला तथा गर्भवती महिला को इसका सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए अन्य लेख को भी पढ़े।

Guru Azeem Shetty

Nutritionist and Fitness trainer

Leave a Reply